Friday, 17 September, 2021

BREAKING

दूध दही का खाना ये म्हारा हरियाणा !!News - Information - Entertainment

असीमा चुनाव परिणाम:असीमा की कमान विक्रम चौधरी को, जितेंद्र सहगल काे 25 वाेटों से हराया

292 सदस्यों वाली अम्बाला साइंटिफिक इंस्ट्रूमेंट मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन (असीमा) की कमान विक्रम चाैधरी काे मिली है। शनिवार को अग्रवाल धर्मशाला में हुए चुनाव में कुल 278 वोट पोल हुए। प्रधान पद के लिए विक्रम चाैधरी ने जितेंद्र सहगल को 25 वोटों के अंतर से हराया। विक्रम चौधरी को 150 वोट तो जितेंद्र सहगल को 125 वोट पड़े। उपप्रधान पद के लिए सौरभ नागपाल (196 वोट) ने गुरुकृपाल सिंह (78 वोट) को 118 वोट से हराया। महासचिव पद के लिए गौरव सोनी ने आशीष पाराशर को 63 वोट से हराया। गौरव सोनी को 168 तो आशीष पराशर को 105 वोट मिले।

संयुक्त सचिव पद के लिए सचिन गोयल (196 वोट) ने सुमित अग्रवाल (75 वोट) को 121 वोट से हराया। शनिवार दाेपहर काे एसाेसिएशन के चुनाव अधिकारी मुकेश चाेपड़ा की देखरेख में अग्रवाल धर्मशाला में हुए। शाम काे चुनाव अधिकारी की तरफ से परिणाम घाेषित किए गए। प्रधान पद के लिए जितेंद्र सहगल और विक्रम चौधरी पैनल के प्रत्याशियों में मुकाबला था। वहीं, कोषाध्यक्ष पद के लिए साझे प्रत्याशी अंकुश गुप्ता पहले ही निर्विरोध चुन लिए गए थे। उनके सामने किसी ने नामांकन दाखिल नहीं किया था। अब विजेता पैनल अपनी कार्यकारिणी का चुनाव करेगा।

इस बार 3 साल का होगा कार्यकाल

सोसाइटी एक्ट में बदलाव की वजह से पहली बार अम्बाला साइंटिफिक इंस्ट्रूमेंट मैन्युफेक्चर एसोसिएशन (असीमा) की कार्यकारिणी का कार्यकाल 3 वर्ष के लिए हुआ। अब तक इसकी समयावधि 2 साल की थी। पहले 7 पदों के लिए चुनाव होता था लेकिन इस बार 5 पदों के लिए हुआ। असीमा ने अपना 50 वर्षों का सफर पूरा कर लिया है। इसलिए यह चुनाव खास रहे। असीमा का गठन सन् 1971-72 में हुआ था। ओपी मलिक एसोसिएशन के पहले प्रधान बने थे।

Scroll to Top