Friday, 17 September, 2021

BREAKING

दूध दही का खाना ये म्हारा हरियाणा !!News - Information - Entertainment

करनाल में किसानों का धरना LIVE:लघु सचिवालय पर लगातार तीसरे दिन डटे किसान, प्रशासन CCTV से नजर रख रहा; 11 सितंबर को फिर महापंचायत

हरियाणा के करनाल में लघु सचिवालय पर किसानों का धरना तीसरे दिन भी जारी है। धरनास्थल पर 1000 से ज्यादा किसान डटे हुए हैं और लोगों के आने का सिलसिला जारी है। प्रशासन ने नजर रखने के लिए धरनास्थल के चारों ओर CCTV कैमरे लगाए हैं, ताकि अंदर बैठकर ही सभी गतिविधियों पर नजर रखी जा सके। वहीं इंटरनेट और SMS सेवा गुरुवार रात 12 बजे तक बंद कर दी गई है। प्रदर्शनकारी बसताड़ा टोल पर लाठीचार्ज के दिन किसानों का सिर फोड़ने का आदेश देने वाले IAS आयुष सिन्हा को सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं। वहीं किसानों ने 11 सितंबर को महापंचायत का फैसला लिया है।

लाठीचार्ज के बीच सामने आया था SDM का वीडियो : खुद को ड्यूटी मजिस्ट्रेट बता कहा- नाका नहीं टूटना चाहिए, कोई आए तो लट्ठ मारना, उसका सिर फूटा होना चाहिए, भाजपा सांसद वरुण गांधी ने कहा- ये लोकतंत्र में अस्वीकार्य

प्रशासन नहीं माना तो 11 को महापंचायत
भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि किसान नेता प्रशासन के बार-बार बुलाने पर मीटिंग के लिए गए, लेकिन अधिकारियों से एक बार भी संतोषजनक जवाब नहीं मिला। किसान अब भी हर बार बुलावे पर वार्ता के लिए तैयार हैं। यदि प्रशासन एसडीएम को सस्पेंड नहीं करता है तो 11 सितंबर को प्रदेश के सभी संगठनों और संयुक्त किसान मोर्चा की महापंचायत जिला सचिवालय धरनास्थल पर आयोजित करेंगे।

डीसी बोले- हठधर्मिता छोड़ें किसान

उधर, उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने किसानों से अपील की है कि वे हठधर्मिता छोड़कर बातचीत के माध्यम से समाधान निकालने में सहयोग करें। तत्कालीन एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ कार्रवाई के मामले में डीसी ने कहा कि मामले की जांच मुख्य सचिव के आदेशों पर ही हो सकती है, रिपोर्ट मिलने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। किसान जांच प्रक्रिया में शामिल होना चाहते हैं तो उसका स्वागत किया है। यिद किसान मामले की जांच किसी अन्य स्तर पर करवाना चाहते हैं तो उनकी उस मांग पर भी विचार किया जा सकता है।

Scroll to Top