Friday, 17 September, 2021

BREAKING

दूध दही का खाना ये म्हारा हरियाणा !!News - Information - Entertainment

करनाल में 4 दिन बाद इंटरनेट सेवा बहाल:60 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ, ऑनलाइन क्लास, कोरोना वैक्सीनेशन और नेटबैंकिंग ठप रही; मोबाइल कंपनियों का ट्रैफिक हुआ डबल

हरियाणा के करनाल शहर में इंटरनेट सेवा शुरू हो गई है। किसानों के धरने को देखते हुए प्रदेश सरकार ने पूरे जिले में 4 दिन मोबाइल इंटरनेट और BULK SMS सेवाएं सस्पेंड रखी थीं। इसकी वजह से आम लोग प्रभावित हुए। बच्चों की ऑनलाइन क्लास बंद हो गई तो मोबाइल शॉप्स सूनी पड़ी रहीं। व्यापारी और कारोबारी नेटबैंकिंग से कोई ट्रांजेक्शन नहीं कर पाया। कोरोना वैक्सीनेशन तीन दिन बंद रही। बैंकिंग सेवाओं पर भी असर पड़ा। धरने पर हजारों किसान बैठे हैं। उनके आसपास सुरक्षा प्रबंधों के मद्देनजर पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स के सैकड़ों जवान तैनात हैं।

नए मोबाइल उपभोक्ताओं और इंटरनेट बंद होने के कारण कई गुना बढ़ चुकी वॉयस कॉलिंग से मोबाइल कंपनियों का नेटवर्क चरमरा गया। आलम ये रहा है कि मिनी सचिवालय के आसपास के एरिया में पहली बार में कॉल तक कनेक्ट नहीं हो रही थी।

गौरतलब है कि 28 अगस्त को किसानों का सिर फोड़ने के आदेश देने वाले करनाल के तत्कालीन एसडीएम व IAS अधिकारी आयुष सिन्हा को सस्पेंड करने की मांग करते हुए किसान 7 सितंबर को शहर में मिनी सचिवालय के सामने टेंट गाड़कर पक्का मोर्चा लगा चुके हैं। पुलिस-प्रशासन के भी सैकड़ों कर्मचारी और अधिकारी यहां शिफ्टों में ड्यूटी निभा रहे हैं। इन सबके बीच जिले में इंटरनेट और SMS सेवा बंद पड़ी रही, जो 4 दिन बाद शुक्रवार को खुली।

सचिवालय के आसपास पहली बार में नहीं मिलती कॉल
करनाल मिनी सचिवालय में तकरीबन 40 विभागों के दफ्तर हैं। मिनी सचिवालय के आसपास वाले इलाके में तकरीबन 10 बीमा कंपनियों के अलावा 15 से अधिक बैंक और 40 निजी कंपनियों के दफ्तर हैं। इलाके में हर मोबाइल कंपनी का टावर लगा हुआ है। मोबाइल कंपनियां इलाके में अपने एक्टिव यूजर के अनुसार नेटवर्क की फ्रीक्वेंसी इन्हीं टावरों के जरिए तय करती हैं। किसानों के धरने से पहले यहां हर कंपनी के एक से दो हजार के बीच यूजर थे। टेलीकम्युनिकेशन से जुड़े एक्सपर्ट के अनुसार, किसान आंदोलन में पहुंचे लोगों की वजह से गुरुवार को इन यूजर की संख्या 10 से 20 गुना बढ़ चुकी है। मौजूदा नेटवर्क इस लोड को उठाने में सक्षम नहीं है। स्थिति ये है कि इस एरिया में पहली बार में कॉल कनेक्ट तक नहीं हो पा रही था। मोबाइल पर बात करने के लिए 3 से 4 बार डायल करना पड़ रहा था।

वॉयस कॉलिंग पर निर्भरता से बढ़ी दिक्कत
इंटरनेट बंद होने के कारण व्हाट्सऐप मैसेज, कॉल और वीडियो कॉल भी नहीं हो पा रहा। SMS भी बंद है। ऐसे में किसान, बाहर से आए पुलिसवाले, पैरामिलिट्री फोर्स के जवान और अधिकारी वॉयस कॉलिंग पर डिपेंड हो गए हैं। इसकी वजह से भी नेटवर्क ब्रेक रहा।

Scroll to Top