in

कोरोना की दूसरी लहर गृहणियों के लिए खतरनाक; 7 दिन में 30 हजार से ज्यादा महिलाएं हुईं संक्रमित, 200 हाउस वाइफ ने गंवाई जान

कोविड -19 अब राज्य में महिलाओं के लिए खतरनाक साबित हो रहा है व यह मई में कहर बनकर टूटा है। 16 मई तक प्रदेश में 2468 महिलाओं की कोरोना से मौत हो चुकी है। 10 से 16 मई तक के सप्ताहभर में ही 430 महिलाओं की मौत हुई है। इनमें 200 गृहिणी यानी हाउस वाइफ शामिल हैं। कोरोना से प्रदेश में कुल 887 गृहणियों की जान जा चुकी है। 16 मई तक प्रदेश में हुई कुल 6685 मौतों के ऑडिट में यह सामने आया है कि कुल मौतों में 37 फीसदी महिलाओं की संख्या है। यही नहीं 16 मई तक प्रदेश में 269736 महिलाओं को कोरोना हुआ है।

गत एक सप्ताह में ही 30,949 महिलाओं को कोरोना हुआ है। 11 अप्रैल तक महज 321 हाउस वाइफ की मौत कोरोना से हुई थी, लेकिन पिछले करीब सवा माह में यह आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। हालांकि अब कोरोना के केस काफी हद तक घट गए हैं, मौतों का आंकड़ा भी 100 से नीचे आ चुका है। लेकिन तब भी हम सबको कोरोना से बचने के लिए नियमों का पालन करना होगा। इसके साथ ही यदि बात करे कोरोना से हो रहीं मौतों में विद्यार्थियों की तो सामने आया है कि 10 से 16 मई तक के सप्ताह में कोरोना से 7 विद्यार्थियों की जान चली गई। अब तक कोरोना से 49 विद्यार्थियों की मौत हो चुकी है। जबकि पिछले करीब सवा माह में 26 विद्यार्थियों की जान गई है।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?