in

जानिए हरियाणा में जन्मे, महान गायक सोनू निगम के बारे में

भारत का हरियाणा राज्य बेहद चर्चित और जाना माना राज्य है। हरियाणा ने जहां देश को एक ओर महान खिलाड़ी दिए है वही हरियाणा ने महान अभिनेता और गायक भी दिए। अब हम बात करे सोनू निगम के बारे में तो हम कह सकते है की हरियाणा से जुड़े इन महान गायक के बारे में देश देश का बच्चा जनता है।

यह न  सिर्फ गायक बल्कि अच्छे अभिनेता भी  है। आज इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं, सोनू निगम के बारे में। उम्मीद है उनके जीवन से जुड़ा यह लेख आपको अच्छा लगेगा।

1. प्रारम्भिक जीवन 

सोनू निगम गायन दुनिया का एक जाना माना नाम है अब बात करे उनके जीवन की तो सोनू निगम का जन्म 30 जुलाई 1973 को एक कायस्थ परिवार फरीदाबाद में हुआ था। उनके पिता जी का नाम अगम निगम है व माताजी का नाम शोभा निगम हैं। उनके पिता आगरा से थे और उनकी मां गढ़वाल से थीं। इसके साथ ही उनकी बहन तीशा निगम भी एक पेशेवर गायिका हैं।

सोनू निगम ने बहुत छोटी उम्र में ही गाना शुरू कर दिया था। सरल शब्दों में कहे तो उन्होंने अपनी गायकी का करियर 4 साल की उम्र में ही शुरू कर दिया था जब उन्होंने एक स्टेज पर आकर अपने पिता अगम निगम के साथ मोहम्मद रफी के गाने ‘क्या हुआ तेरा वादा’ गाने को गाना शुरू कर दिया। इसके बाद 19 साल की उम्र में वे गायन को अपना करियर बनाने के लिए अपने पिता के साथ मुंबई आ गए व उन्होंने हिन्दुस्तानी क्लासिकल गायक उस्ताद गंुलाम मुस्तफा खान से प्रशिक्षण लिया।

2. सोनू निगम का विवाह 

विवाह इस जिंदगी की कई मुख्य कड़ियों में से एक है और बात करे अब सोनू निगम के विवाह की तो उनकी शादी 15 फरवरी 2002 में मधुरिमा मिश्रा से हुई थी। मधुरिमा मिश्रा एक बंगाली परिवार से हैं। इसी के साथ सोनू निगम का एक लड़का भी हैं जिसका नाम निवान निगम है।

3. करियर 

सोनू निगम के करियर की बात करे तो उनका शुरूआती जीवन काफी संघर्षो से भरा रहा था, मुंबई में उन्हीने काफी मेहनत की व  बाद में टी सीरीज के प्रमोटर गुलशन कुमार ने उन्हें बड़ी आडियंस तक पहुंचने का उन्हें मौंका दिया। प्लेबैक सिंगर के तौर पर उनका पहला फिल्मी गाना जानम फिल्म कें लिए था जो कि आधिकारिक तौर पर रिलीज ही नहीं हुई।

इसके बाद,1995 में वे पापुलर टीवी शो ‘सा रे गा मा पा’ होस्ट करने लगे। इसके बाद, उन्होंनेे फिल्म बेवफा सनम का गाना ‘अच्छा सिला दिया’ गाया। उन्होंनेे फिल्म बाॅर्डर में अनु मलिक द्वारा कम्पोज किए गए सांग ‘सन्देसे आते हैं’ को भी गाया जो कि काफी हिट हुआ और लोगों की जुबान पर चढ़ गया। वहीं फिल्म परदेस में ‘ये दिल’ गाने ने भी लोगों का दिल जीता।

1999 में टी सीरीज ने निगम का अल्बम दीवाना रिलीज किया, इसका संगीत साजिद वाजिद ने दिया था। सोनू ने हिन्दी की कई अन्य फिल्मों में भी गाने गाए और कई पुरस्कार जीतें। उन्हें फिल्म कल हो ना हो के टाइटल सांग और फिल्म अग्निपथ के गाने ‘अभी मुझमें कही’ के लिए काफी सराहना मिली। उन्होंने रोमांटिक, राॅक, सैड, देशभक्ति जैसी हर तरह की शैलियों के गाने गाए है।

बात करे यदि कम्पोजर की तो निगम ने सोलो कम्पोजर के तौर पर फिल्म सिंह साहब द ग्रेट का टाइटल सांग कम्पोज किया। उन्होंने फिल्म सुपर से उपर और जल के भी संगीत को कम्पोज किया है। वही दूसरी ओर सोनू निगम ने काफी टेलीविज़न शो भी किये। जिनमे वे, शो सा रे गा मा पा, किसमें कितना है दम, इंडियन आइडल, एक्स फैक्टर, आदि शो में दिखाई दिए।

फिल्म की बात करे तो वह जाॅनी दुश्मनः एक अनोखी कहानी, काश आप हमारे होते और लव इन नेपाल जैसी फिल्मों में दिखे। इन सभी फिल्मों को ठीक-ठाक ही रेस्पांस मिला।

4. सिंगिंग स्टाइल 

सोनू बॉलीवुड में सबसे लोकप्रिय पार्श्व गायकों में से एक है, व वे बड़े रूप से बॉलीवुड में नए गायकों को प्रेरित करने वाले माने जाते है। इसके साथ ही उनकी तुलना अक्सर मोहम्मद रफ़ी से की जाती है व पुरानी पीढ़ी के गायकों में लता मंगेशकर उन्हें एक अच्छी गायिका मानती हैं।

इसके अलावा गायक अरमान मलिक व गायक और संगीतकार अंकित तिवारी ने अपनी संगीत प्रेरणाओं में से एक के रूप में सोनू निगम का हवाला दिया। वही संगीत निर्देशक मिथुन को लगता है कि सोनू निगम हमारे देश में अब तक के सबसे तकनीकी रूप से ध्वनि गायकों में से एक है।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?