in

जाने जींद जिले से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बाते

भारत का राज्य हरियाणा विभिन्न बातों के लिए दुनिया भर में मशहूर है। हरियाणा राज्य में आप कई ऐसे जिले देख सकते हैं जो कि इतिहास के पन्नों से जुड़े हैं। यदि बात करें जींद जिले की तो इसमें कोई शक नहीं कि जींद से जुड़ी कई कथाएं इतिहास में प्रचलित है।

जींद जिले के बारे में काफी लोग जानना चाहते हैं, इसलिए आज इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं जींद से जुड़ी कुछ रोचक बातों की। यदि आप भी जींद के बारे में जानना चाहते हैं तो चलिए इस संपूर्ण लेख के साथ।

#1 जींद से जुड़ी इतिहासिक मान्यता

जींद हरियाणा का एक जिला है व ऐतिहासिक बातों को लेकर काफी चर्चित भी है। कहा जाता है कि महाभारत की कई कथाएं जींद से जुड़ी हुई है। जींद के बारे में मान्यता है कि इसकी स्थापना महाभारत महाकाव्य के पांडवों ने की थी व उन्होंने यहां एक मंदिर बनवाया था। जिसके आसपास ही जींद (या जैंतपुरी) नगर बसा था।

जींद पहले 18वीं शताब्दी में एक सिख सरदार द्वारा स्थापित पंजाब के फुलकिया रजवाड़ों में से एक था। इसके साथ ही कहा जाता है कि युद्ध में कौरवों को हराने के लिए पांडवों ने यहां पर विजय की देवी जयंती देवी के मंदिर का निर्माण किया था, और उन्होंने इसी मंदिर में पूजा की थी। वहीं देवी के नाम पर ही जींद का नाम ज्यांतपुरी रखा गया था।

#2 जींद जिले के पर्यटक स्थल

इतिहास की दृष्टि से जींद जिले का काफी लंबा चौड़ा इतिहास देखने को मिलता है। पर हम यदि बात करे जींद जिले के पर्यटक स्थल की तो हम नाम ले सकते है जयंती देवी, धमतान साहिब गुरुद्वारा, भूतेश्वर मंदिर आदि का । इसी के साथ बात करें यहां पर अन्य रुचि स्थलों के तो हम नाम ले सकते हैं पांडू पिंडारा, रामराय, हंसदेहार, सफीदों, नरवाना आदि का जिनके साथ काफी मान्यताएं जुड़ी हुई है। यह स्थल पर्यटन के लिए काफी खास है।

#3 शिक्षण संस्थान

जींद हरियाणा के 22 जिलों में से एक है व एक लंबे चौड़े इतिहास के साथ-साथ यहां पर अन्य कई चीजें देखने को मिलती है। जैसे हम नाम ले सकते शिक्षण संस्थान का। जी हां, यदि बात करें हम जींद से जुड़े शिक्षण संस्थान की, तो यहां पर चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय स्थित है।

इसके साथ ही यहां स्थित महाविद्यालय जींद विश्वविद्यालय से संबंध है। इसके साथ ही यहां पर आप जयंती पुरातात्विक संग्रहालय भी देख सकते हैं।

#4 जींद से जुड़े उद्योग और व्यापार

जैसा कि आज इस लेख में हम बात कर रहे है जींद से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण और रोचक बातो के बारे में। इसलिए अब यदि हम बात करे जींद के उद्योग व व्यापार की तो हम कह सकते है यहां का उद्योग क्षेत्र काफी विकसित हैं। यहां के उद्योगों में खासतौर से सूती वस्त्र, चीनी, स्टील की ट्यूब, मशीनों के पुर्जों के साथ-साथ कपास ओटने, इस्पात की री-रोलिंग और हथकरघे से बुनाई शामिल है। वाकई यह जींद के लोगों के लिए काफी लाभदायक बात है

#5 कृषि व खनिज

जींद जिले में जहां एक ओर सूती वस्त्र, चीनी, आदि उद्योग है वहीं जींद का कृषि के क्षेत्र में भी काफी नाम है। सरल शब्दों में कहे तो जींद नहरों और नलकूपों द्वारा बड़े रूप से सिंचित है। इसके साथ ही बात करे यदि यहां की प्रमुख फसलों की तो गेहूं व चावल यहां की प्रमुख फसलें है। अन्य फसलों में यहां बाजरा, तिलहन, चना, और गन्ना शामिल है। 

इसके साथ ही जींद जिले की भूमि घग्गर और यमुना नदी के पानी में बहकर आई मिट्टी से बनी है व यहां की प्रमुख नहर पश्चिमी यमुना नहर है। इसके साथ ही यहां पर खास तौर से शीशम, कीकर, सफेदा आदि के वृक्ष पाए जाते हैं।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?