in

दिल्ली-पानीपत रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आर आर टी एस) को पानीपत से आगे करनाल तक…


दिल्ली-पानीपत रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आर आर टी एस) को पानीपत से आगे करनाल तक बढ़ाने की सैद्धांतिक स्वीकृति केंद्र द्वारा प्रदान कर दी गई है। यह जानकारी हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज नई दिल्ली में केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी के साथ बैठक करने उपरांत मीडिया से बातचीत के दौरान दी।
मुख्यमंत्री ने बताया कि इसी वर्ष अक्तूबर माह तक इस प्रोजेक्ट की व्यवहार्यता देख ली जाएगी। इसके अतिरिक्त दिल्ली-गुरुग्राम-राजस्थान सीमा तक रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आर आर टी एस) के संदर्भ में भी केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी से विचार-विमर्श हुआ। परियोजना को गति देने की दिशा में केंद्र द्वारा दिल्ली सरकार से बातचीत की जाएगी।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री श्री प्रह्लाद सिंह पटेल और केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री श्री डी. वी. सदानंद गौड़ा के साथ भी बैठक की।
पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि हरियाणा में कालका से कालेसर तक साईकिल-बाईक ट्रैक निर्मित किए जाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा हरियाणा सरकार को वित्त प्रदान किया जाएगा। ज्योतिसर (कुरूक्षेत्र) में महाभारत व गीता से संदर्भित एक विश्वस्तरीय वर्चुअल म्यूजियम विकसित किए जाने के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा वित्त प्रदान किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि कुरूक्षेत्र में 99 करोड़ रुपये की कृष्णा सर्किट-2 परियोजना व 97 करोड़ रुपये की हेरिटेज सर्किट परियोजना के लिए केंद्र से वित्त की मांग की गई है। दोनों परियोजनाएं केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को प्रेषित की जाएंगी। मोरनी (हरियाणा) में एडवेंचर स्पोट्र्स परियोजना के लिए भी केंद्र द्वारा हरियाणा को आर्थिक सहयोग किया जाएगा। हरियाणा में स्थित सिंधु घाटी सभ्यता के पुरातात्विक स्थल ‘राखी गढी’ में साईकिल ट्रैक का निर्माण भी केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने बताया कि गुरुग्राम में हिंदुस्तान इंसेक्टीसाईड लिमिटेड व इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड को प्रदान की हुई भूमि के सदुपयोग की दिशा में भी केद्रीय रसायन व उर्वरक मंत्री से गहन विचार-विमर्श हुआ है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में खनन पर प्रतिबंध को लेकर हरियाणा द्वारा जताई गई आपत्ति को भी केंद्र द्वारा सैद्धांतिक रूप से स्वीकार कर लिया गया है।
हरियाणा के लिए अलग से विधानसभा भवन के निर्माण के प्रश्न का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आवश्यकतानुसार वर्तमान विधानसभा भवन छोटा है और हरियाणा विधानसभा के लिए पृथक भवन के लिए केंद्र से प्रस्ताव किया हुआ है।
आस्ट्रेलिया में गिरफ्तार करनाल के नागरिक विशाल जूड के संदर्भ में मीडिया द्वारा किए गए प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर से बात हुई है। विदेश मंत्रालय इस संदर्भ में अपने स्तर पर लगातार प्रयासरत है।


Source

What do you think?