Friday, 17 September, 2021

BREAKING

दूध दही का खाना ये म्हारा हरियाणा !!News - Information - Entertainment

पकड़ी गई शातिर:शादी डॉट कॉम पर प्रोफाइल डालकर ठगती थी, 6 साल बाद कर्नाटक से पकड़ी गई आशा उर्फ नीलू

मैट्रिमोिनयल साइट शादी डॉट कॉम पर प्रोफाइल डालकर रिश्ते के इच्छुक लोगों को ठगने की आरोपी आशा उर्फ नीलू 6 साल बाद पुलिस पकड़ में आई है। उसे कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से पकड़ा है। महिला के खिलाफ अम्बाला कैंट की डिफेंस कॉलोनी सेक्टर-डी के प्रभजोत सिंह ने पंजोखरा थाने में जुलाई 2015 में एफआईआर दर्ज कराई थी। एफआईआर के मुताबिक एसएमपीएल में हरियाणा मैनेजर प्रभजोत सिंह वर्ष 2013 में इस वैवाहिक साइट के पेड मेंबर थे। उनका कोर्ट में पत्नी के साथ तलाक का केस चल रहा था।

सितंबर 2013 को इस साइट के माध्यम से नीलू सूरी नाम से महिला का शादी के लिए प्रपोजल आया। 10 दिन बाद ही महिला का फोन आया और बातचीत होने लगी। नीलू ने खुद को मुंबई की रहने वाली बताया था। उसने बताया था कि उसके पति की सितंबर 2012 में हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। उनका 7 साल का बेटा है। महिला का कहना था कि मूलरूप से उत्तराखंड के हलद्वानी की रहने वाली है। मां का नाम रूबी तलवार और भाई का नाम पंकज तलवार बताया था।

नीलू ने कहा था कि दोबारा शादी करना चाहती है। प्रभजोत ने कहा कि मार्च 2014 तक कोर्ट में तलाक हो जाएगा, उसके बाद शादी करेंगे। इस तरह दोनों की फोन पर बातचीत होने लगी। नीलू ने नवंबर 2013 में कहा कि उसकी मां रुबी, देवर रोहित सूरी व उसका एक मित्र रिश्ते के लिए प्रभजोत की पड़ताल करने आएंगे। कुछ लोग आए भी और डिफेंस कॉलोनी में प्रभजोत के आस-पड़ोस में पड़ताल करके गए। इससे प्रभजोत को नीलू पर विश्वास हो गया। इस बीच नीलू ने पैसे की तंगी होने की बात कहकर प्रभजोत से आर्थिक मदद मांगनी शुरू की।

प्रभजोत यह सोचकर पैसे देते रहे कि भविष्य में उसी से शादी होने है। नीलू कहती थी कि उसका बैंक खाता नहीं, इसलिए उसके अंकल यशवंत पाटिल के खाते में पैसे डाल दें। एक बार 40 हजार, दूसरी बार 28 हजार और तीसरी बार 10 हजार रुपए डलवाए। उसके बाद कभी वह बेटे की फीस तो कभी बिजली बिल भरने की बात कहकर पैसे खाते में मंगवाती रही। नीलू ने हरप्रीत से मोबाइल भी मंगवाया। नीलू ने अपनी दोस्त बताकर गुरजीत भारद्वाज के खाते में 35 हजार और भाई पंकज तलवार के खाते में 25 हजार मंगवाए।

फिर नीलू ने कहा कि पति उसके नाम पर सनराइज कंपनी में लाखों रुपए निवेश कर गए थे जो अब मैच्योर हो गए हैं। 17 लाख रुपए मिलने हैं लेकिन उससे पहले दिल्ली में कंपनी के डायरेक्टर समीर भारद्वाज को 2 लाख रुपए प्रीमियम के तौर पर जमा कराने होंगे। नीलू के कहने पर प्रभजोत ने भरोसा किया और 8 दिसंबर 2013 को दिल्ली गया। जहां कर्नाटक भवन में समीर भारद्वाज से मुलाकात हुई।

Scroll to Top