Friday, 17 September, 2021

BREAKING

दूध दही का खाना ये म्हारा हरियाणा !!News - Information - Entertainment

पानीपत हो रहा कोरोना से सुरक्षित:सितंबर के 10 दिनों में 78 हजार 877  ने लगवाई वैक्सीन, 86% लगवा चुके पहला टीका, दूसरी डोज 19% ने लगवाई

पानीपत कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में जिस रफ्तार से चल रहा है, उस हिसाब से जल्द ही खुद को कोरोना की तीसरी लहर से सुरक्षित रखने में कामयाब हो सकता है। सितंबर महीने के 10 दिनों में ही 78 हजार 877 लोगों को कोरोना वैकसीन लगाई जा चुकी है। जिले में कुल 8 लाख 8 हजार 860 लोगों को कोरोना वैक्सीनेट किया जाना है। जिनमें से 6 लाख 95 हजार 101 लोग टीकाकरण करा चुके हैं। हालांकि इनमें से 5 लाख 36 हजार 313 लोगों ने पहली डोज लगवाई है। पानीपत स्वास्थ्य विभाग ने इस महीने 3 लाख लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए कुल लाभार्थियों के 70 प्रतिशत को कोरोना वैक्सीन लगवानी जरूरी है। पानीपत की बात करें तो यहां अब तक करीब 86 प्रतिशत लोगों का कोरोना टीकाकरण किया जा चुका है। हालांकि इसमें 66.30 प्रतिशत लोगों ने केवल पहली ही डोज लगवाई है। जबकि 70 प्रतिशत लाभार्थियों को दोनों टीके लगने चाहिए थे। पानीपत में सितंबर महीने के 10 दिनों में ही 78 हजार 877 लोगों ने खुद को कोरोना से सुरक्षित किया है। शुक्रवार को कुल 32 सेंटर पर 8 हजार 778 लोगों ने कोरोना की पहली और दूसरी डोज लगवाई है। पानीपत स्वास्थ्य विभाग ने इस महीने 3 लाख लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा है।

दूसरी डोज में कोताही बरत रहे लोग
सिविल अस्पताल के वैक्सीनेशन नोडल अधिकारी डॉ. मनीष पाशी ने बताया कि लोग कोरोना की दूसरी डोज लगवाने नहीं आ रहे हैं। पहली डोज लगवाने के बाद लोग खुद को स्वस्थ महसूस कर रहे हैं। उन्हें लगता है कि अब उन्हें यह बीमारी गिरफ्त में नहीं ले सकती, जो गलत है। कोरोना की दोनों डोज लगवाना जरूरी है। तभी पानीपत को कोरोना की तीसरी लहर से बचाय जा सकता है। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से कोरोना की दोनों डोज समय पर लगवाने की अपील की है।

आज यहां लगवा सकते हैं वैक्सीन

Scroll to Top