in

पढ़िए हरियाणा कि परिणीति चोपड़ा के जीवन से जुडी यह बाते

हरियाणा भारत देश का एक जाना माना राज्य है व यहां से ऐसे कई लोग निकले है जिन्होंने अपने जीवन में खूब तरक्की की हैं। यहां कुछ लोग खेलो के लिए जाने जाते हैं तो कुछ लोग कलाकारी के लिए। अब हम बात करे यदि परिणीति चोपड़ा के बारे में तो बेशक काफी लोगो की पसंदीदा है वो। आज इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं परिणीति चोपड़ा के जीवन से जुडी कुछ अहम बातो के बारे में। तो लीजिये  अपना समय और चलिए इस सम्पूर्ण लेख के साथ।

1. प्रारंभिक जीवन

परिणीति चोपड़ा हिंदी फिल्मों का एक जाना माना नाम है यदि बात करें उनके जन्म की तो उनका जन्म 22 अक्टूबर 1988 को अंबाला हरियाणा में हुआ था. इसके साथ ही आपको बता दे कि वह एक पंजाबी परिवार से थी। परिणीति चोपड़ा के पिता का नाम पवन चोपड़ा है जो कि एक व्यापारी है वही उनकी माता का नाम रीना चोपड़ा है।

इसके साथ ही परिणीति चोपड़ा के दो भाई है जिनका नाम शिवांग और सहज चोपड़ा है। यहां पर आपको बता दे की परिणीति चोपड़ा हिंदी फिल्मों की लोकप्रिय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की चचेरी बहन है इसके साथ ही मीरा चोपड़ा और मन्नारा चोपड़ा भी इनकी चचेरी बहन है।

2. स्कूल व कॉलेज

परिणीति चोपड़ा ने जहां एक्टिंग में अच्छी जीत हासिल की है, वहीं उन्होंने शिक्षा में भी एक अच्छा स्तर लिया है।  जी हां, बात करें यदि परिणीति चोपड़ा की पढ़ाई की तो उन्होंने अपनी पढ़ाई कन्वेंट आफ जीसस एंड मैरी स्कूल अंबाला हरियाणा से ही पूरी की है।

उन्होंने 17 साल की उम्र में ही इंग्लैंड जाने का फैसला कर लिया था और वहां जाकर उन्होंने मैनचेस्टर बिजनेस स्कूल से बिजनेस फाइनेंस और इकोनामिक में ट्रिपल ऑनर्स की डिग्री प्राप्त की। इसमें कोई शक नहीं है कि उन्होंने अपने जीवन में काफी मेहनत की है।

परिणीति ने विश्वविद्यालय में नए छात्रों के लिए कुछ क्लासेस भी दी थी व अपनी पढ़ाई के दौरान उन्होंने मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब के लिए खानपान विभाग के टीम लीडर के रूप में भी काम किया था। इसके साथ ही आपको बता दें कि वह हिंदुस्तानी शास्त्रीय गायिका हैं जिसके लिए उन्होंने बी.ए. संगीत की ट्रेनिंग ली है।

3. परिणीति चोपड़ा के करियर की शुरुआत

प्रियंका चोपड़ा ने अपने जीवन में सफलता हासिल की है व यदि बात करें उनके कैरियर की तो भारत लौटने के बाद वह अपनी बहन प्रियंका चोपड़ा के साथ मुंबई रहने चली गई थी। जिसके बाद उन्होंने यशराज फिल्म स्टूडियो में जाने का फैसला किया था। परिणीति चोपड़ा पहले अभिनेता और अभिनेत्री व्यवसाय को पसंद नहीं करती थी लेकिन बाद में प्रियंका चोपड़ा के सात खून माफ फिल्म के चलते उनकी धारणा बदल गई।

उनको यह व्यवसाय बहुत पसंद आया था। जिसके बाद देखते-देखते उन्होंने एक्टिंग स्कूल में अपना दाखिला करवा लिया। इसके बाद उन्होंने 2011 में फिल्म लेडीज वर्सेज रिकी भेल में अभिनेता रणवीर सिंह और अनुष्का शर्मा के साथ एक सहायक की भूमिका निभाई थी। इसमें उन्होंने दिल्ली के एक अमीर लड़की डिंपल चड्डा का किरदार किया था जिसकी काफी तारीफ की गई थी।

4. फिल्मी सफर

2012 में परिणीति चोपड़ा ने हबीब फैसल द्वारा निर्देशित की गई रोमांटिक ड्रामा फिल्म इशकजादे में अभिनय किया था इसमें उन्होंने अभिनेता अर्जुन कपूर के साथ रोल किया था। यह परिणीति चोपड़ा की पहली मुख्य किरदार निभाने वाली फिल्म थी। इसके साथ इसी साल उन्होंने फिल्म शुद्ध देसी रोमांस में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत व वाणी कपूर के साथ काम किया था।

2014 में उन्होंने रोमांटिक कॉमेडी फिल्म हंसी तो फंसी व दहेज प्रथा पर आधारित दावत ए इश्क में काम किया। दावत ए इश्क फिल्म में परिणीति चोपड़ा ने खूब तारीफ बटोरी। इसके बाद परिणीति चोपड़ा ने किल दिल बिंदु व गोलमाल जैसी फिल्मों में काम किया। गोलमाल फिल्म ने रिकॉर्ड तोड़ कामयाबी हासिल की थी।

2017 में उन्होंने अपना एक गाना भी रिलीज किया था “माना कि हम यार नहीं” जो काफी लोगों द्वारा पसंद किया गया था।

5. अवॉर्ड्स

परिणीति चोपड़ा ने काफी मेहनत कर फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। यदि बात करें उनको मिले अवॉर्ड्स की तो 2012 में उनको फिल्म लेडीज वर्सेस रिकी बहल के लिए बेस्ट डेब्यू एक्टर का अवार्ड मिला था व इसी फिल्म के लिए उनको बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवार्ड भी मिला था।

2012 में ही उन्हें फिल्म इश्कजादे के लिए स्पेशल मेंशन का अवार्ड मिला था। इसके बाद 2015 में स्टार आइकन ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला था। उन्होंने अभी तक कुल 17 अवॉर्ड्स को अपने नाम किया है।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?