in

सरकार ने की घोषणा, कोरोना से सफाई कर्मियों की मौत पर मिलेंगे 20 लाख, डिमांड – 50 लाख

हरियाणा के लगभग 11 हजार ग्रामीण सफाई कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ एक बार फिर से मार्चा खोल दिया है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि 27 मई तक 50 लाख बीमा कवरेज व दाह संस्कार के लिए दो हजार राशि नहीं दी तो कोविड सेंटरों की देखभाल व कोविड लाशों का दाह संस्कार नहीं करेंगे।

साथ ही कर्मचारियों का कहना है की अनेक बार पत्र व स्मरण पत्र लिखने के बावजूद विभाग ने ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क, दस्ताने, सेनेटाइजर व पीपीई किट उपलब्ध नहीं करवाई है। उस पर अनिल विज ने कहा है कि कोरोना ड्यूटी के दौरान यदि किसी सफाई कर्मचारी की कोरोना से मौत हो जाती है तो सरकार की तरफ से उसके परिवार को 20 लाख रुपए का मुआवजा राशि दी जाएगी।

इसके साथ ही ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन हरियाणा (सीटू) के राज्य प्रधान देवीराम व महासचिव विनोद कुमार ने सरकार पर ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को कोरोना महामारी में राम भरोसे छोड़ने का आरोप लगाया है। उनका कहना है की सरकार के इस बर्ताव के खिलाफ वह 26 मई को अपने-अपने गांव मे काला दिवस मनाएंगे और विरोध प्रदर्शन करेंगे।

वह चाहते है की ग्रामीण सफाई कर्मियों के लिए महामारी से बचाव के लिए सुरक्षा उपकरण, कोरोनाकाल में 50 लाख बीमा कवरेज, दाह संस्कार करने के लिए 2000 रुपए प्रोत्साहन राशि दे। अन्यथा वह 27 मई से गांव मे साफ-सफाई के कार्य के अलावा कोविड सेटर की देखरेख और दाह संस्कार जैसे कार्य के खिलाफ होंगे।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?