in

हरियाणा के 30 लाख शुगर मरीजों पर मंडरा रहा ब्लैक फंगस का खतरा, 50 से ज्यादा केस मिल चुके हैं

कोरोना संक्रमण के साथ साथ अब लोगो पर ब्लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है व लोगो के नाक और आँख को खा रहा है यह रोग। जी हाँ, बीमारी ब्लैक फंगस का सबसे ज्यादा असर कोरोना संक्रमित शुगर के मरीजों पर हो रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा में 10.4 प्रतिशत लोग शुगर के मरीज हैं यानी 2.86 करोड़ की आबादी में 30 लाख 30 हजार लोगों पर ब्लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च व अन्य हेल्थ विशेषज्ञ का कहना है की , जो शुगर के मरीज हैं, उन पर ब्लैक फंगस का खतरा सबसे अधिक है। इसकी वजह है की शुगर के मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर रहती है। प्रदेश में अभी 50 से ज्यादा केस सामने आए हैं। इनमें 27 मरीज रोहतक पीजीआई में पहुंचे हैं। 6 हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। गुरुग्राम में भी एक निजी अस्पताल में 10 मरीज भर्ती हो चुके हैं।

ब्लैक फंगस के फैलने की वजह की बात करे तो स्टेरॉयड, ब्लड शुगर, कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के अलावा ऑक्सीजन पाइप से इंफेक्शन फैल सकता है। ऑक्सीजन के लगातार इस्तेमाल से वेट इन्वायरमेंट बनता है, जो ब्लैक फंगस को फैलने में सहयता करता है। इससे बचने के लिए आपको सावधानी रखने की जरूरत है। इसके साथ ही ध्यान रखे की फंगस ऑक्सीजन पाइप में न रह जाए, इसके लिए बार-बार पाइप को क्लीन करना जरूरी है। ऐसे में सावधानी ही एक मात्रा सहारा है।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?