in

हरियाणा पुलिस ने साइबर जालसाजों द्वारा परिवहन सेवा की फर्जी वेबसाइट बनाने और इस …


हरियाणा पुलिस ने साइबर जालसाजों द्वारा परिवहन सेवा की फर्जी वेबसाइट बनाने और इस पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के इच्छुक लोगों को ठगने की कोशिश के आरोप में नई दिल्ली निवासी युवक को गिरफ्तार किया है। हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि परिवहन सेवा की फर्जी वेबसाइट से ठगी का यह मामला हिसार निवासी द्वारा दी गई शिकायत के बाद समाने आया। ठगी के शिकार व्यक्ति ने https://e-parivahanindia.online पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन व शुल्क का भुगतान किया था। जब उसे अपने साथ साइबर धोखाधड़ी का पता चला तो इसकी शिकायत दर्ज करवाई।
शिकायतकर्ता के अनुसार उसने इंटरनेट पर उपलब्ध परिवहन सेवा वेबसाइट पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। उसने यह सोचकर फीस जमा करवाई कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने व नवीनीकरण के लिए आवेदन करने और निर्धारित शुल्क का भुगतान करने के लिए परिवहन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट है। पीडि़त द्वारा फर्जी वेबसाइट पर फार्म भरते हुए 1593 रुपये का भुगतान किया गया। शिकायत मिलने पर, साइबर क्राइम की टीम तुरंत तफतीश में जुट गई और तकनीकी जांच में अपराध में शामिल एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपी की पहचान कपिल कुमार निवासी भजनपुरा, गढ़ी मांडू, नई दिल्ली के रूप में हुई है। जांच के दौरान यह पाया गया कि गिरफ्तार आरोपी ने ऑनलाइन सेवाओं के बहाने लोगों को ठगने के लिए परिवहन विभाग के अलावा पासपोर्ट विभाग (https://passportseva.co/index) सहित कुछ अन्य संस्थानों जैसे https://www.edrivinglicenceindia.in और http://eparivahan.online/index.php के नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार करवाई हुई हैं। यह आशंका भी जताई जा रही है कि इस तरह अन्य आवेदकों के साथ ठगी की जा चुकी होगी।


Source

What do you think?