in

हरियाणा राज्य से जुडी सामान्य ज्ञान की आवशयक बाते

हरियाणा भारत देश का एक खास राज्य है व यहां की जीवनशैली और खान-पान बाकी राज्यों से काफी अलग है। हरियाणा राज्य को पांच राज्य कि सीमाएं घेरती है। जो की, राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड है।

हरियाणा और पंजाब राज्य की राजधानी एक ही है जो कि चंडीगढ़ है। अब बात करते है हरियाणा की स्थापना की तो 1 नवंबर 1966 को हरियाणा पंजाब से अलग हुआ था या हम कह सकते हैं कि इस तिथि पर हरियाणा की स्थापना हुई थी। क्षेत्रफल के हिसाब से इसे भारत का बिस्वा सबसे बड़ा राज्य माना जाता है।

तो आज इस लेख में हम बात करने जा रहे हैं हरियाणा से जुड़े इतिहास और हरियाणा से जुड़े कुछ खास बातों के बारे में। यदि आप भी हरियाणा के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो चलिए लेख इस के साथ।

#1 हरियाणा से जुड़ी सामान्य बाते

हरियाणा भारत का एक इतिहासिक व खेलप्रिय राज्य है। अब यदि बात करे हरियाणा से जुडी कुछ समान्य बातो की तो हरियाणा भारत में क्षेत्रफल कि दृष्टि से 21वा स्थान रखता है वहीं जनसंख्या के अनुसार राज्य का स्थान 18वा स्थान है। बात करे प्रमुख वृक्ष की तो पीपल वृक्ष हरियाणा राज्य का प्रमुख वृक्ष है।

वही कमल का पुष्प हरियाणा का प्रमुख पुष्प है। : वहीं हरियाणा का राजकीय पक्षी काला तीतर व राजकीय पशु कृष्णमृग है।इसके साथ ही हरियाणा का प्रमुख खेल कुश्ती है। वाकई हरियाणा भारत का एक बेहद अच्छा राज्य है।

#2 हरियाणा इतिहास

अब नंबर दो पर हम बात करेंगे हरियाणा के इतिहास की तो हम कह सकते हैं कि 1 नवंबर 1966 को पंजाब पुनर्गठन अधिनियम एक्ट 1966 के तहत हरियाणा राज्य का गठन हुआ था। 23 अप्रैल 1966 को पंजाब राज्य को विभाजित करने और नए हरियाणा राज्य की सीमा निर्धारित करने के लिए भारत सरकार ने जे.सी. शाह की अध्यक्षता में शाह कमीशन की स्थापना की थी और इसके बाद ही हरियाणा की स्थापना हुई थी। हरियाणा में कुल 22 जिले हैं जो विभिन्न चीजे के लिए मशहूर है।

#3 हरियाणा की भाषा व नदिया

वैसे तो भारत देश के विभिन्न राज्य में विभिन्न बोलियां बोली जाती है। परंतु हम यदि बात करे हरियाणा कि तो, हरियाणा में खास तौर से हरियाणवी, हिंदी, पंजाबी, और अंग्रेजी आदि बोली जाती है। लेकिन ज्यादातर लोग यहां हिंदी व हरियाणवी में ही बात करते हैं।

वहीं हरियाणा में ब्रजभाषा के साथ साथ बगरी और मेवाती भी बोली जाती है। वहीं दूसरी ओर यदि बात करें हरियाणा की प्रमुख नदियों की तो हम नाम ले सकते हैं मारकंडा, यमुनानगर, टंगरी, और सरस्वती नदी की। जी हां, यह नदियां हरियाणा की प्रमुख नदियां है।

#4 हरियाणा में पहनी जाने वाली वेश भूषा

अब बात करें यदि हरियाणा में पहने जाने वाली वेशभूषा की तो हरियाणा राज्य की महिलाओं के परंपरागत पहनावे में मुख्यतः दामन कुर्ती और चुनरी इत्यादि शामिल होती है। वहीं यदि बात करें पुरुषों के पहनावे की तो उनके पहनावे में धोती (चारों ओर से लिपटा हुआ कपड़ा पैरों के मध्य से जुड़े हुआ) के साथ सफेद रंग का कुर्ता व सर पर पगड़ी आदि पहनी जाती है।

अब यदि बात करें आधुनिक युग की तो यहां काफी लोग पसंदीदा तौर पर शर्ट फॉर्मल पैंट, t-shirt जींस पैंट, कुर्ता पाजामा, सलवार कमीज, व साड़ी इत्यादि चुनते हैं।

#5 हरियाणा से जुड़ी संगीत और नृत्य कला

भारत के विभिन्न राज्यों में विभिन्न प्रकार की संगीत और नृत्य कला देखने को मिलती है और यदि बात करें हरियाणा की तो हरियाणा की भी संगीत और नृत्य से जुड़ी खुद की एक अलग पहचान है। जिसमें हरियाणा के परंपरागत नृत्य में गणगौर, झूमर, खोरिया नृत्य, फाग, दाफ, लूर, धमाल आदि को शामिल किया जाता है।

वहीं दूसरी ओर यदि बात करें संगीत कला की तो इसमें शास्त्रीय संगीत और लोकगीत जो के ग्रामीण जीवन से जुड़े होते है इनको भी काफी पसंद किया जाता है। जिसमें पहाड़ी पद्धति का राग, भैरवी राग, और मल्हार राग यहां के लोगों द्वारा काफी पसंदीदा तौर पर चुना जाता।

इसके साथ साथ ढोल, डमरू, मटका, सारंगी, हारमोनियम, शहनाई, मंजीरा, नगाड़ा, घुंगरू, और खंजीरी आदि नृत्य साहित्य से जुड़े संगीत कला और कलाकार इस राज्य में उपलब्ध है।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?