in

हरियाणा सरकार खरीफ-2021 के दौरान प्रदेश में दलहनी व तिलहनी फसलों को बढ़ावा दे रह…


हरियाणा सरकार खरीफ-2021 के दौरान प्रदेश में दलहनी व तिलहनी फसलों को बढ़ावा दे रही है ताकि किसानों की भूमि की उर्वरा शक्ति बढऩे के साथ-साथ राज्य में खाद्य तेल की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार द्वारा हरियाणा के सभी (विशेषकर प्रमुख बाजरा उत्पादक) जिलों में दलहनी (मूंग, अरहर) व तिलहनी (अरंड, मूंगफली) की फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। सरकार का लक्ष्य है कि 70 हजार एकड़ क्षेत्र में बाजरा की बजाय दलहनी फसलें तथा 30 हजार एकड़ क्षेत्र में बाजरा की बजाय तिलहनी फसलों की बिजाई की जाए। उन्होंने बताया कि इसके तहत किसानों को 4 हजार रूपए प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता भी दी जाएगी।
प्रवक्ता ने बताया कि दलहनी फसलें लगाने से जहां भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ती है वहीं तिलहनी फसलों को बढ़ावा देने से प्रदेश में खाद्य तेल की उपलब्धता सुनिश्चितता होगी। उन्होंने बताया कि उक्त फसलों के पंजीकरण के लिए ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर 31 जुलाई 2021 तक पंजीकरण करवाया जा सकता है।




Source

What do you think?