in

हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि एचआईव…


हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि एचआईवी/एड्स जागरूकता संदेश अभियान को राज्य के सभी जिलों में चलाया जायेगा, जिसके अंतर्गत स्लम क्षेत्रों, उच्च जोखिम समूह स्थलों, ट्रक यूनियनों और टैक्सी स्टैंडों पर, एचआईवी/एड्स परामर्श और परीक्षण सेवाएं प्रदान की जायेंगी, जिनमें एक काउंसलर और एक लैब तकनीशियन होगा ।
श्री अरोड़ा आज पंचकूला में हरियाणा राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा एचआईवी/एड्स और नशीली दवाओं के दुरुपयोग पर आयोजित एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। यह कार्यक्रम एक अभियान मोड में टाईटल ‘बी स्मार्ट, डोंट स्टार्ट’ के साथ आयोजित किया गया। उन्होंने आज एचआईवी/एड्स जागरूकता संदेश वाली तीन फेब्रिकेटेड वैन पंचकूला जिले के स्लम क्षेत्रों, उच्च जोखिम समूह स्थलों, ट्रक यूनियनों और टैक्सी स्टैंडों पर गयी। उन्होंने कहा कि जिंगल के माध्यम से एचआईवी/एड्स और नशीली दवाओं के दुरुपयोग के बारे में जागरूकता प्रदान करने के लिए वैन में लाउड स्पीकर लगाए गए हैं।
इस अवसर पर बोलते हुये महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ वीणा सिंह ने कहा कि हालांकि इंजेक्शन वाली दवाओं में वृद्धि हुई है, लेकिन भांग, तंबाकू और इनहेलेंट के उपयोग जैसे पदार्थों में भी बढ़ौतरी हुई है। लंबे समय में, आर्थिक मंदी, बढ़ती बेरोजगारी और अवसरों की कमी से यह संभावना अधिक होगी कि गरीब और वंचित लोग नशीली दवाओं के उपयोग के हानिकारक पैटर्न में संलग्न होंगे, नशीली दवाओं के उपयोग संबंधी विकारों से पीडि़त होंगे।
स्वास्थ्य सेवाओं के अतिरिक्त महानिदेशक एवं हरियाणा राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी के परियोजना निदेशक डॉ. वी.के. बंसल ने कहा कि अकेले एकीकृत परामर्श और परीक्षण केंद्रों पर परीक्षण और परामर्श सेवाओं तक नहीं पहुंचने वाली आबादी तक पहुंचने के लिए, समुदाय आधारित स्क्रीनिंग का एक नया दृष्टिकोण लिया गया है। जिसके तहत इन उच्च जोखिम वाली आबादी को उनके आग्रह/बैठक स्थल पर कवर किया जाएगा। उच्च जोखिम समूह, महिला यौनकर्मी, पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुष, इंजेक्शन लगाने वाले ड्रग उपयोगकर्ता, ट्रक वाले और प्रवासी आबादी से उनके समुदायों/आवासों में संपर्क किया जाता है और परामर्श और एचआईवी परीक्षण सेवाएं प्रदान की जाती हैं।
हरियाणा राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी की अतिरिक्त परियोजना निदेशक डॉ. मोनिका ने कहा कि सरकार ने 9 ओरल सबस्टिच्यूटन ट्रीटमेंट (ओएसटी) केंद्र अंबाला, सोनीपत, बहादुरगढ़ (झज्जर), पानीपत, फरीदाबाद, जींद, रेवाड़ी, हिसार और सिरसा में स्थापित किए है।


Source

What do you think?