in

हिमांशु ने ह्यूमिडिफायर का देसी जुगाड़ बना की लोगो की सहायता

भिवानी। कोरोना के चलते दुनिया में जहां एक ओर सबका मस्तिष्क विचलित हो रहा है वही  दूसरी और लोग इससे जंग करने में जुटे है। इसी के दौरान बहल के हिमांशु भारद्वाज ने ऑक्सीजन गैस सिलिंडरों पर लगने वाले ह्यूमिडीफायर की कमी को दूर करने के लिए देशी जुगाड़ बना दिया। जी हाँ,

बहल में 10 बेड का कोरोना आइसोलेशन सेंटर बनाने के बाद ऑक्सीजन लेवल कम आने वाले मरीजों के लिए 10 सिलिंडर भेजे थे लेकिन ह्यूमिडिफायर न होने से ये सिलिंडर काम में नहीं आ सके। इसके चलते चिकित्सक परेशान थे की कैसे इनका प्रयोग कैसे किया जाए।

इस पर बहल पीएचसी के डॉ. अजय श्योराण ने कस्बे के इंजीनियर हिमांशु भारद्वाज के समक्ष यह समस्या रखी तो उसने एक ऑक्सीजन सिलिंडर अपने घर पर पहुंचाने के लिए कहा। जिसके बाद हिमाँशु ने मात्र 15 से 20 रुपये की लागत पर ऐसा देसी जुगाड़ कर दिया, जिससे सभी सिलिंडरों को आसानी से प्रयोग में लाया जा सके।

इसके बाद चिकित्सकों ने उससे सभी सिलिंडरों के लिए यह जुगाड़ बनाने के लिए कहा। जिसपे हिमांशु ने कहा कि उसे इस बात में बड़ी खुशी होगी कि इस महामारी में उसकी थोड़ी सी मेहनत से किसी को चिकित्सीय सहायता मिल जाए।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?