in

हिसार में नवनिर्मित चौधरी देवीलाल संजीवनी कोविड अस्पताल के बाहर हुए हमले में 5 म…


हिसार में नवनिर्मित चौधरी देवीलाल संजीवनी कोविड अस्पताल के बाहर हुए हमले में 5 महिला पुलिसकर्मियों सहित कुल 20 घायल कर्मचारी घायल हो गए। डीएसपी अभिमन्यु लोहान पर भी हमला किया गया और उपद्रवियों ने पुलिस की 5 गाडिय़ां तोड़ डाली।
उपद्रवियों ने चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन के बहाने पुलिसकर्मियों पर जमकर हमला बोला और पथराव किया। इस हमले में 5 महिला पुलिसकर्मियों सहित कुल 20 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिनका नागरिक अस्पताल में उपचार चल रहा है। उपद्रवियों ने जिंदल ओवर ब्रिज के नीचे डीएसपी अभिमन्यु लोहान पर भी हमला बोला। पुलिस प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि उपद्रवियों ने सबसे पहले नहर पुल पर स्थापित किए गए बैरिकेड को तोड़ा और बैरिकेड नहर में फेंक दिए। इसके बाद उपद्रवियों ने जिंदल ओवर ब्रिज के नीचे बैरिकेड को भी तोड़ा और वहां डीएसपी अभिमन्यु लोहान के साथ जमकर हाथापाई की। तत्पश्चात उपद्रवी जिंदल मॉडर्न स्कूल में स्थापित किए गए चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल परिसर में घुसने लगे और वहां लगाए गए बैरिकेड हटा दिए। इस जगह पर उपद्रवियों ने पुलिसकर्मियों पर ट्रैक्टर चढ़ाने की भी कोशिश की, जिसमे कुछ पुलिसकर्मियों के पांव पर भी चोट लगी है। इन उपद्रवियों ने पुलिस के पांच वाहनों को भी क्षतिग्रस्त किया है। हैरानी की बात यह है कि मुख्यमंत्री के द्वारा अस्पताल के लोकार्पण कार्यक्रम के समापन की सूचना देने के बाद भी इन लोगों ने अस्पताल की परिधि में घुसने की कोशिश की, जहां कोरोना संक्रमितों के उपचार का कार्य आज ही आरंभ हुआ है। इनमें से कई उपद्रवी शराब पिए हुए थे और इनकी मंशा बड़े स्तर की हिंसा करना था। प्रवक्ता ने बताया कि एक तरफ प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से पीडि़त लोगों को राहत दिलाने के लिए त्वरित हस्पतालों का निर्माण कर रही है जब कि उपद्रवी ऐसे हस्पतालों में भी तोडफ़ोड़ कर नुकसान पहुँचाना चाहते थे।








Source

What do you think?