in

50 से ज्यादा किसानों को हिरासत में लिया, मुख्यमंत्री का कर रहे थे विरोध।

भिवानी। रविवार मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दौरा किया जिसका कृषि कानूनों से नाराज किसानों ने विरोध किया। जिसके दौरान लगभग 50 से भी ज्यादा किसानों को मुख्यमंत्री का विरोध करने  के लिए हिरासत में ले लिया गया।

हुआ ऐसा की, प्रेमनगर में चल रहे धरने से किसान दोपहर के समय भिवानी के लिए रवाना हुए थे। किसानों का दावा है कि तिगड़ाना मोड़ के पास पुलिस ने 50 से ज्यादा किसानों को हिरासत में ले उन्हें लोहारू लेकर चले गए। इस घटना से नाराज होकर किसानो ने धनाना और प्रेमनगर में जाम लगा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की व जाम के कारण जींद और हांसी मार्ग पर वाहनों की लंबी कतार लग गई।

नारेबाजी के साथ साथ किसानो को हिरासत में लेने के लिए पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने की मांग की। किसानो का आरोप यह भी है की पुलिसकर्मियों ने महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया। किसानो का कहना है की भाजपा को सत्ता में लाने वाले किसानो की हालत ही आज बुरी हो गई है। साथ ही उनका कहना है की किसानो पर लाठीचार्ज करना लोकतंत्र नहीं है व उनका कहना है की भाजपा सरकार पूरी तरह से तानाशाही पर उतर आई है।

उन्होंने एक दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि एक दिन में लाठीचार्ज मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो चार मई को फिर से रोड जाम कर प्रदर्शन किया जाएगा।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?